तुम हमारे थे प्रभु जी तुम हमारे हो जया किशोरी जी भजन लिरिक्स

तुम हमारे थे प्रभु जी तुम हमारे हो जया किशोरी जी भजन लिरिक्स


तुम हमारे थे प्रभु जी,
तुम हमारे हो,
तुम हमारे ही रहोगे,
मेरे प्रियतम,
हम तुम्हारेथे प्रभु जी,
हम तुम्हारेहै,
हम तुम्हारेही रहोगे,
मेरे प्रियतम।।
तुम्हे छोड़ सुन नंद दुलारे,
कोई ना मीत हमारो,
किसके द्वारे जाए पुकारू,
और ना कोई सहारो,
अब तो कर बाँह पकड़ लो,
मेरे प्रियतम।
तुम हमारे थे प्रभू जी,
तुम हमारे हो,
तुम हमारे ही रहोगे,
मेरे प्रियतम,
हम तुम्हारेथे प्रभु जी,
हम तुम्हारेहै,
हम तुम्हारेही रहोगे,
मेरे प्रियतम।।
तेरे कारण सब जग छोड़ा,
तुम संग नाता जोड़ा,
एक बार प्रभु बस ये कह दो,
तू मेरा मै तेरा,
साँची प्रीत की रीत निभा दो,
मेरे प्रियतम।
तुम हमारे थे प्रभू जी,
तुम हमारे हो,
तुम हमारे ही रहोगे,
मेरे प्रियतम,
हम तुम्हारेथे प्रभु जी,
हम तुम्हारेहै,
हम तुम्हारेही रहोगे,
मेरे प्रियतम।।
दास की यह विनती सुन लीजो,
ब्रजराजदुलारे,
आखरी आस यही जीवन की,
पूरण करना प्यारे,
एक बार हृदय से लगा लो,
मेरे प्रियतम।
तुम हमारे थे प्रभू जी,
तुम हमारे हो,
तुम हमारे ही रहोगे,
मेरे प्रियतम,
हम तुम्हारेथे प्रभु जी,
हम तुम्हारेहै,
हम तुम्हारेही रहोगे,
मेरे प्रियतम।।
तुम हमारे थे प्रभु जी,
तुम हमारे हो,
तुम हमारे ही रहोगे,
मेरे प्रियतम,
हम तुम्हारेथे प्रभु जी,
हम तुम्हारेहै,
हम तुम्हारेही रहोगे,
मेरे प्रियतम।।
साभार
श्री प्रमोद सोनी

Leave a Comment